SEO friendly article kaise likhe | SEO friendly article कैसे लिखे?

SEO friendly article Kaise likhe,,SEO(search engine optimization)
SEO friendly article Kaise likhe



Introduction SEO friendly article कैसे लिखे?



SEO friendly article कैसे लिखे? नए bloggers का अक्सर यह सवाल रहता है कि उनकी पोस्ट गूगल पर रैंक क्यों नहीं करती?इसका कारण यह है कि आप भले ही कितने भी अच्छे लेखक क्यों ना हो और पोस्ट में कितनी भी नई जानकारी क्यों ना हो अगर आपने अपनी पोस्ट का SEO नहीं किया तो वो गूगल में कभी भी रैंक नहीं करेगी.अपनी website पर ट्रैफिक बढ़ाने और गूगल में उसको रैंक कराने के लिए आपको उसका SEO करना ही होगा.अगर आप google adsense का approval आसानी से लेना चाहते है तो उसके लिए भी SEO बहुत जरुरी है.इस पोस्ट में आपको पूरी जानकरी दी जाएगी कि SEO friendly article कैसे लिखे? 


 SEO friendly article कैसे लिखे? 

Blogging में किसी भी पोस्ट का SEO (Search engine optimization) इसलिए जरुरी है क्यूंकि इससे आप गूगल को बताते हैं कि आप किस topic पर पोस्ट लिख रहे हैं.इसके बाद जब लोग गूगल search engine में उस topic के बारे में खोज करते है तो गूगल उस पोस्ट को search में दिखाता है इसलिए अगर SEO Friendly पोस्ट नहीं लिखी जाती तो गूगल को पता ही नहीं चलता कि आपने जो पोस्ट लिखी है वो किस topic पर लिखी गई है जिसके कारण वो search engine में show नहीं होती और आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक नहीं आता. SEO friendly article कैसे लिखें इसके लिए आपको इन बातों पर खास ध्यान देना होगा।


1.Keyword search


अगर आप SEO friendly article लिखना चाहते हैं तो उसके लिए सबसे जरूरी keywords का आपके पास होना बहुत जरुरी है.इसलिए पोस्ट लिखने से पहले ऐसे keywords को चुन लें जिन पर competition कम और searches ज्यादा होती हों.

Keyword किसे कहते है? गूगल में जो शब्द डालकर किसी टॉपिक को search किया जाता है उसको keyword कहतें हैं.उदहारण के तौर पर "SEO friendly article कैसे लिखे" गूगल में इन शब्दों से ही उन articles की खोज़ की जाती है जिनसे SEO friendly article कैसे लिखे उसके बारे में जानकारी मिलती है.बस इसी को keyword कहते है.

दूसरा उदहारण:- Motapa कैसे कम करें? इन शब्दों को गूगल में डालकर उन articles की खोज की जाती है जिनसे यह जानकारी मिले कि मोटापा कैसे घटाया जा सकता है.इस तरह यही keyword है.

Keywords की किस्में

मुख्य तौर पर keywords चार किस्म के होते हैं

1. One word keywords:- यह keywords वो होते हैं जिनको गूगल में केवल एक शब्द डालकर articles खोजें जाते हैं. जैसे 'SEO' अगर गूगल में आप केवल यह शब्द डालकर search करेंगे तो SEO क्या है उसके बारे में कई articles आपके सामने खुल कर आ जाएंगे लेकिन आप अगर नए ब्लॉगर हो तो आप इन keywords का कम ही इस्तेमाल करें तो अच्छा है क्यूंकि एक शब्द वाले keywords में कम्पटीशन बहुत ज्यादा होता है जिसके कारण आपकी पोस्ट रैंक नहीं करेगी.

2. Two word keywords:- यह वो keywords होते है जिनमें दो शब्दों का इस्तेमाल करके गूगल में किसी टॉपिक को search किया जाता है. उदहारण के तौर पर "SEO settings' इस keyword से SEO की Settings से सम्बंधित कई तरह के articles मिल जाएंगे.

3. Three word keywords:- यह वो keywords होते है जिनमें आप तीन शब्दों का इस्तेमाल करके गूगल में कुछ search करते है. जैसे कि "SEO Friendly article" यह तीन शब्दों का keyword है.

4. Multiple words या longtail keyword:- यह वो keywords होते है जिनमें आप दो या तीन से अधिक शब्द डालकर गूगल में किसी टॉपिक को search करते है.उदहारण 'SEO Friendly article कैसे लिखे?' इस keyword में पांच शब्द है. आप शुरू में अगर इस तरह के थोड़े लंबे जिनको search भी बहुत ज्यादा किया जाता हो ऐसे keywords का इस्तेमाल करें तो आपकी posts बहुत जल्दी रैंक करने लग जाएगी.

2. पूरे article में 1-1.5% keywords डालें 


Blogpost लिखते समय एक बात का ध्यान जरूर रखें कि जब आप पोस्ट लिखते है तो उसमें अधिक से अधिक 1-1.5% keywords का ही उपयोग करें. अगर आप जरुरत से ज्यादा keywords use करते है तो भी आपकी पोस्ट गूगल पर रैंक नहीं करेगी. जरुरत से ज्यादा use किए गए keywords को गूगल blackhat keywords की श्रेणी में डाल देता है इससे आपकी पोस्ट पर नेगेटिव प्रभाव पड़ता है. Blackhat SEO क्या होता है उसके बारे में जानकारी हासिल करने के लिए आप यह आर्टिकल पढ़ सकते है

पोस्ट में keywords की गिणती कैसे करें

अगर आपका पोस्ट 1000 words का है तो 1.5% keywords गिनने का आसान तरीका है

1000×1.5= 1500/100= 15

इस तरह 1000 words वाली पोस्ट में केवल 15 जगह पर ही keywords का इस्तेमाल करें. अगर आपकी पोस्ट इससे अधिक या कम words की है तो आप इस आसान तरीके से keywords की गिणती कर सकते है.

3. Heading और permalink में keyword का इस्तेमाल करें 


SEO Friendly article लिखने के लिए इस बात का खास ध्यान रखें कि आपका जो keyword है उसे आप अपनी पोस्ट की heading और permalink में जरूर इस्तेमाल करें. Permalink पोस्ट के url को कहते है.इसके लिए आप पोस्ट की setting में जाकर permalink पर click करें उसके सेटिंग को autometic permalink से बदलकर custom permalink कर दें और वहां अपना keyword डालकर Done कर दें.

4. Image SEO


आप अपनी पोस्ट पर जिस भी image का इस्तेमाल करना चाहते उसको अपने पीसी, लैपटॉप या मोबाइल में उसी नाम से save करें जो आपका keyword है.इस बात का खास ध्यान रखें कि आप जिस भी image का इस्तेमाल करें वो copyright free होनी चाहिए.सेव करने पहले image का size जरूर compress कर लें. Image का size घटाने का कारण यही है कि इससे आपके पेज की स्पीड कम नहीं होगी, वेबसाइट और page स्पीड भी गूगल में रैंक करने में बहुत बड़ा रोल अदा करती है.

Blogpost में image अपलोड करने के बाद उसपर क्लिक करें और caption में भी आप अपना keyword use करें. उसके बाद properties में जाकर title text और alt text में भी अपना keyword डालदें.इससे आपकी image भी गूगल में रैंक होगी. अपने देखा होगा गूगल में images वाला option भी होता है जिसपर जाने से keyword से सम्बंधित images खुल जाती है.

5. Helping keywords भी use करें 


Hepling keywords क्या होते है? अपने जो keyword use करके टॉपिक चुना है उसको explain करने के लिए आप जिन शब्दों का इस्तेमाल करते है उनको helping keywords कहा जाता है. उदहारण :- SEO friendly post कैसे लिखे?  ये main keyword है. इसको explain करने के लिए आप जिन शब्दों का उपयोग करेंगे उनको helping keywords कहा जाता है. जैसे

Main keyword:- SEO Friendly article कैसे लिखे 
Helping keyword 1:- Benefits of SEO 

Helping keyword 2:- Types of SEO 

Helping keyword 3:- Onpage SEO

Helping keyword 4:- Offpage SEO

इन keywords द्वारा अपने article को explain करते समय आप जिन images को use करें उनको main keyword की जगह helping keywords से optimize करें. Helping keywords से images को optimize उसी तरीके से करना है जैसे main keyword वाली image को किया था.

6. Search description में keyword का use करें 


SEO friendly article कैसे लिखे यह जानने के लिए आपको पता होना चाहिए कि search discription किसी article को रैंक कराने में कितना बड़ा रोल अदा करता है.यह पोस्ट खास उनके लिए है जो ब्लॉगर use करते है wordpress में search discription की जगह आपको अलग तरह से सेटिंग मिलेगी लेकिन हम यहां हम केवल ब्लॉगर की ही बात करेंगे.

इसके लिए आपको फिर सेटिंग्स में जाना है और वहां search discription में जाकर वहां भी अपना keyword डाल करके उसको सेव कर देना है.इससे भी आपको अपनी पोस्ट रैंक कराने में सहायता मिलेगी.

7. Blog में label use करें 


अपनी वेबसाइट की पोस्ट को लेबल देकर categorize जरूर करें.लेबल देने से आपकी वेबसाइट पर आने वाले visitors जिस टॉपिक को ढूंढ रहे होंगे उनको उस टॉपिक पर पोस्ट ढूंढ़ने में आसानी होगी.किसी भी पोस्ट को सही ढंग से ऐसा लेबल दें जिससे पता चले कि इस लेबल में किस विषय से सम्बंधित posts है.

8. H2 और H3 title use करना ना भूले 


H2 heading क्या होती है? आप अपनी पोस्ट लिखते समय main heading के बाद पोस्ट में जिस heading को use करते है उसे H2 heading कहा जाता है.इस बात का खास ध्यान रखें कि आपकी H2 heading देते समय आप main keyword का ही इस्तेमाल करें.

H3 और H4 title क्या होता है? आप अपने helping keywords के साथ टॉपिक को explain करने के लिए जिन headings का इस्तेमाल करते है उन्हें H3 और H4 title कहते है.H2 title के बाद आने वाली headings को ही H3 और H4 headings कहा जाता है. इनमें helping keywords का इस्तेमाल किया जाता है.

9. Title के शुरू में main keyword use करें 


H2, H3 और H4 title heading देने के बाद जब आप अपना paragraph शुरू करें उसे शुरू करते समय main keyword का जरूर इस्तेमाल जरूर करें.कोशिश करें कि heading के नीचे जितने भी paragraph आप लिखे दो या तीन lines से ज्यादा ना हो.paragraph भी तीन से अधिक ना लिखे.

10. Internal linking


आपके ब्लॉग में और भी posts होंगी जिनको आपने categories में बाँट रखा होगा.जिस पोस्ट को आप लिख रहे हो अगर उस विषय से सम्बंधित आपकी केटेगरी में कोई और पोस्ट भी हो तो उसका लिंक अपनी पोस्ट में जरूर दें.ऐसा करने से एक तो आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट कम होगा दूसरा इससे आपकी दूसरी पोस्ट भी रैंक कर जाएगी.इससे आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक भी बढ़ेगा.

11. लम्बा article लिखें 


अगर आप अपना पोस्ट जल्दी रैंक करवाना चाहते हैं तो article जितना हो सके उतना लम्बा लिखें लेकिन article में फजूल की चीजे डालने से परहेज़ रखें.विषय के बारे में जानकारी इकट्ठी करें और to the point ही article लिखे तांकि लोग पढ़ने में रूचि दिखाए.अगर आपका मकसद केवल और केवल adsense का approval लेना ही है तो आप कम से कम 20-25 unique पोस्ट 600-700 words के लिख सकते हैं.

12. Copyright content बिलकुल ना डाले 


अगर आप adsense approval लेना चाहते हैं और वेबसाइट के posts को रैंक करवाना चाहते हैं तो किसी और वेबसाइट से कॉपी किया हुआ content ब्लॉगर पर बिलकुल मत डालें.जितना हो सके खुद लिखें.

निष्कर्ष 


SEO friendly article कैसे लिखे अगर आप यह तरीका सीख जाते हो तो इसी तरीके से स्थाई रूप से अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाया जा सकता है.दूसरे तरीके जिनका आप अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने में इस्तेमाल करेंगे वो केवल कुछ समय के लिए ही आपके काम आ सकते है. अंत में आपके हाथ निराशा ही लगेगी.शोशल मिडिया भी कुछ समय तक ही traffic generate करने में मदद करता है लेकिन जैसे ही सोशल मिडिया पर डाला हुआ पोस्ट पुराना हो जाता है तो वेबसाइट से ट्रैफिक भी गायब हो जाता है.

मैं यह नहीं कहता कि शोशल मिडिया का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जरूर करना चाहिए क्यूंकि इससे backlinks generate होता है लेकिन स्थायी रूप से ट्रैफिक बनाए रखने के लिए आपको पूरा ज्ञान होना चाहिए कि SEO friendly article कैसे लिखे? 

Post a Comment

0 Comments