SEO (Search engine optimization) kya hai?Types of SEO in Hindi

SEO (Search engine optimization) kya hai?Types of SEO in Hindi,SEO
SEO (Search engine optimization) kya hai?Types of SEO in Hindi


इस आर्टिकल में हम cover करेंगे

SEO (Search engine optimization) क्या है?

Types of SEO in Hindi

White hat SEO

Black hat SEO

Black hat SEO techniques

Grey hat SEO

SEO(Search engine optimization) क्या है? 


इंटरनेट पर कई तरह के search engines मौजूद है जैसे कि google, yahoo, bing, youtube आदि जहाँ आप अपनी queries डालके वहां से किसी भी topic पर जानकारी हासिल कर सकते है. अगर आप चाहते है कि जिन perticular queries को लोग search engine पर ढूंढ़ते है वहां उनके सामने search engine के पहले पेज पर आपकी पोस्ट दिखाई दे तो इसके लिए जिन techniques का इस्तेमाल किया जाता है उसे SEO (Search engine optimization) कहते है.

पोस्ट को कैसे लिखना है तांकि वो google search engine के पहले पेज पर दिखे इसके लिए गूगल ने कुछ guidelines बना रखी है अगर आप उनको सही तरीके से follow करते है तो आपकी पोस्ट को रैंक करने से कोई नहीं रोक सकता. SEO Friendly पोस्ट कैसे लिखें इसके बारे में आप अधिक जानकारी यहां से ले सकते है.अब हम types of SEO(Search engine optimizatiom) in hindi के बारे में बात करेंगे.

Types of SEO in Hindi


SEO (Search engine optimization) को तीन हिस्सों में बांटा गया है.

1. White hat SEO

2. Black hat SEO

3. Grey hat SEO

White hat SEO क्या होता है? 


White hat SEO को ethical और organic SEO(search engine optimization) माना जाता है.किसी post का SEO करने का यह ऐसा तरीका है जिसमें search engine की सभी guidelines को follow किया जाता है. White hat SEO थोड़ा slow process है लेकिन इससे लंबे समय तक website की posts search engine में रैंक करती है.अगर आप एक genuine blogger हैं और आप blogging की दुनिया में खुद को स्थापित करना चाहते हैं तो आपको white hat SEO का ही चयन करना चाहिए.

Google द्वारा post लिखने और उसे search engine में रैंक कैसे करवाना है इसके लिए कुछ नियम बनाए गए है.जिसमें keyword का इस्तेमाल कहा करना है, कैसे करना है और कितनी बार करना है उसके बारे में बताया गया है. अगर आप उन सभी guidelines के अनुसार पोस्ट लिखते है तो उसे white hat SEO कहा जाता है. Post लिखते समय white hat SEO की techniques ही use करनी चाहिए और SEO करने का यही सही तरीका है जिससे लंबे समय तक google search engine में रैंकिंग बरकरार रखी जा सकती है.

Black hat SEO क्या होता है? 


Black hat SEO किसी blogpost का SEO करने का White hat SEO से बिलकुल opposite तरीका है.Black hat SEO को unethical तरीका माना जाता है, इसमें post का SEO करते समय search engine की guidelines को follow नहीं किया जाता. Black hat SEO से किसी perticular keyword को टारगेट करके लिखी गई पोस्ट को keyword का गलत तरीके से use करके पोस्ट को जल्दी रैंक किया जा सकता है लेकिन वो पोस्ट ज्यादा समय तक रैंक नहीं करती.अगर कोई black hat SEO का use करता है तो google search engine website को blacklist में डाल देता है जिससे url डालने से भी आपकी उस website को search नहीं किया जा सकता.

Google search engine के softwares इतने चालाक है कि अगर किसी पोस्ट में black hat SEO का इस्तेमाल किया गया हो तो उसे पहचान लेते है जिसके बाद website को blacklist में डाल दिया जाता है.इसलिए इस technique का use नहीं करना चाहिए.

Black hat SEO में link spam, hidden text, keyword stuffing, clocking और hidden links जैसी techniques का use किया जाता है. जिनको संक्षेप में अगर बयान करना हो तो कहा जा सकता है कि अपनी पोस्ट के meta description, image alt text और पोस्ट में अधिक keywords डालकर google को आपकी पोस्ट रैंक कराने के लिए force किया जाता है जिसमें ना तो content अच्छा होता है और ना ही जिन keywords का use किया जाता है उस विषय में जानकारी दी गई होती है.

Black hat SEO Techniques क्या होती हैं अब हम पर थोड़ी रौशनी डालते हैं ---

Keyword stuffing 

अपनी blogpost में जरुरत से अधिक keywords का उपयोग करना उसको keyword stuffing कहा जाता है.गूगल की guidelines के मुताबिक आपकी पोस्ट में 1-1.5% keyword density होनी चाहिए कुछ bloggers 2-2.5% भी रखते है जिससे पढ़ने वाले को कुछ अटपटा ना लगे लेकिन जब  keywords की मात्रा इससे अधिक हो जाए तो उसे keyword stuffing कहा जाता है.

Article spinning 

किसी और के लिखे हुए article को किसी article spinner tool में डालकर उसे spin या rewrite करके पोस्ट कर देना उसको article spinning कहते हैं. इसमें किसी और के लिखे हुए article को जब spin किया जाता है तो उस article में मौजूद कुछ शब्दों को उनके प्रायवाची यानि synonyms से replace कर दिया जाता है.लेकिन गूगल भले ही एक मशीन है लेकिन इसके softwares इतने anvanced हैं कि वो पहचान कर लेते हैं कि article को spin करके पोस्ट किया गया है जिसके बाद पोस्ट के साथ साथ website की रैंकिंग भी search engine की नज़र में गिर जाती है.

Hidden text 

ये एक ऐसी technique है जिसमें text को पोस्ट में छुपा दिया जाता है.अब आप सोच रहे होंगे text को कैसे छुपाया जाता है? यह बहुत आसान तरीका है. इसमें जो website का background color होता है ठीक उसी रंग में text लिखा जाता है जिससे पोस्ट में लिखा हुआ content दिखाई नहीं देता जिसमें अधिक से अधिक keywords का गलत तरीके से उपयोग किया गया होता है.अगर आप blogging में नए हैं और इस field में लंबे समय तक टिके रहना चाहते हैं तो आपको इस तरह की techniques का उपयोग बिलकुल भी नहीं करना है.

Paid links 

बहुत सारी websites ऐसी है जो पैसे लेकर हज़ारों websites पर आपकी posts का लिंक डाल देती है. एक तरह से ये backlink बनाने की technique है जिससे google search engine को यह बताने की कोशिश की जाती है कि आपकी website की हज़ारों जगहों पर बात हो रही है इसलिए आपकी website या पोस्ट को रैंक किया जाना चाहिए.बहुत पहले यह technique काम कर जाती थी लेकिन अब google ने खुद को इतना update कर लिया है कि इस तरह से बनाए गए links को वो झट से पकड़ लेता है.अगर आप इस technique का use करते है तो आपको google penality से गुजरना होगा. आपकी website blacklist की जा सकती है.

Hidden links 

जब text को background color से match करके उसे छुपा दिया जाता है तब उस text पर जो hyperlinks बनाए जाते है उसे hidden links कहा जाता है.

Cloaking

Google सिर्फ इस बात पर अपना ध्यान केंद्रित करता है कि जिस keyword को डालकर कोई user किसी topic को search करे उसे उसके बारे में पूरी relevent जानकारी मिले और वो misguide ना हो लेकिन इस technique में keywords का उपयोग करके किसी पोस्ट को रैंक करवा दिया जाता है लेकिन user को उस पोस्ट पर सही जानकारी नहीं मिलती जिससे वो misguide होता है इसे cloaking कहा जाता है.

Grey hat SEO क्या होता है 


इसको आप एक उदहारण से समझ सकते है. मान लीजिये कोई अपनी पोस्ट को किसी targeted keyword पर जल्दी रैंक करवाना चाहता है तो इसके लिए white hat seo काम नहीं करेगा क्यूंकि इसमें पोस्ट को रैंक करवाने के लिए समय लगता है और ना ही वो black hat seo का इस्तेमाल कर सकता है क्यूंकि इससे website blacklist में डाल दी जाएगी तो इसका समाधान करने के लिए grey hat SEO use किया जाता है.

Grey hat SEO black hat और white hat SEO का मिश्रण है जिसमें 95% white hat और 5% black hat SEO का इस्तेमाल किया जाता है.लेकिन जिन्होंने blogging की अभी शुरुआत की है उनको grey hat SEO का use नहीं करना चाहिए क्यूंकि पोस्ट का SEO करते समय black hat SEO की थोड़ी सी भी मात्रा अधिक हो गई तो website को blacklist में डाल दिया जाता है.नए bloggers को केवल white hat SEO ही use करना चाहिए. SEO का पूरा ज्ञान होने के बाद ही grey hat SEO use किया जाना चाहिए आधी अधूरी जानकारी के साथ आपका नुकसान हो सकता है.

Conclusion 

उम्मीद है आप समझ गए होंगे SEO (Search engine optimization) क्या है और यह कितने types का होता है. अगर आप एक कामयाब blogger बनना चाहते है और blogging में टिके रहना चाहते है तो आपको SEO(Search engine optimization) का ज्ञान होना बहुत जरुरी है और इसका सही तरीके से उपयोग कैसे करते है तो आपको एक कामयाब ब्लॉगर बनने से कोई नहीं रोक सकता.बिना SEO के कोई भी ब्लॉगर सफलता हासिल नहीं कर सकता.

Post a Comment

0 Comments