पंजाब: पुलिस के जुल्म से तंग आकर 45 वर्षीय व्यक्ति ने की आत्महत्या, परिवार हुआ अनाथ

17 अप्रैल, 2020 (पटियाला):-  पंजाब के जिला पटियाला से एक घटना सामने आई है जिसमें पुलिस का एक बार फिर से खूंखार चेहरा देखने को मिला. घटना पटियाला के थाना कोतवाली के अधीन पड़ते इलाके की है जहाँ 45 वर्षीय एक व्यक्ति घर से दूध लेने निकला और दूध लेकर वापिस आते समय पुलिस ने उसे रास्ते में रोककर बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया.

पीड़ित का शव और मीडिया को बयान देती उसकी पत्नी 

पीड़त की पत्नी द्वारा दिए गए बयान के मुताबिक पुलिस उसके पति को पीटती हुई घर तक लाई. जब वो घर में दाखिल हुआ तो पुलिस उसे दोबारा घर से खींचकर बेदर्दी से पीटती हुई थाने ले गई और थाने से जब वो घर आया तो जलालत ना सहारते हुए उसने कमरा बंद करके पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली.

परिवार जब तक कमरे का दरवाज़ा तोड़कर अंदर दाखिल हुआ तब तक पीड़त व्यक्ति की मौत हो चुकी थी. पीड़त व्यक्ति एक गरीब परिवार से सम्बंधित था. वो पेशे से ड्राइवर था और कोतवाली इलाके में किराये के एक मकान में रहता था. पीड़त के परिवार में अब पत्नी और एक बेटी शेष है. आत्महत्या करने वाला घर में कमाई करने वाला एकमात्र व्यक्ति था.

आपको बता दें कि यह पहली घटना नहीं है जिसमें पुलिस ने कानून की धज्जियां उड़ाकर किसी को आत्महत्या के लिए उकसाया हो. कुछ दिन पहले पंजाब के एक शहर लुधयाना से एक घटना सामने आई थी जिसमें पुलिस एक रेस्टोरेंट मालिक से जबरदस्ती हज़ारों रुपए का मुफ्त राशन लेके जाती थी. पुलिस द्वारा रोज़ परेशान किए जाने के बाद रेस्टोरेंट मालिक ने आत्महत्या कर ली थी.

देश भर से ऐसी बहुत सारी घटनाएं लगातार सामने आ रही है जिनमें आम नागरिक पुलिस द्वारा शोषित हो रहे है इसलिए आम नागरिकों की परेशानी को ध्यान में रखते हुए सरकार को चाहिए कि वो पुलिस को सही ढंग से काम करने के लिए निर्देश जारी करे.

Post a Comment

0 Comments