Lockdown: भूखमरी के कारण औरत ने अपने पांच बच्चों को गंगा नदी में फेंका

17 अप्रैल, 2020 (भदोही):- उत्तर प्रदेश के भदोही इलाके से एक घटना सामने आई है जहाँ भूखमरी के चलते एक माँ ने अपने 5 बच्चों को गंगा नदी में फेंक दिया. नदी में फेंके गए 5 बच्चों में 3 लड़कियां और 2 लड़के बताए जा रहे है. बच्चों की उम्र 5 से 12 साल के बीच बताई जा रही है. बच्चों को नदी में फेंकने की बात बच्चों की माँ ने कैमरे के सामने खुद कबूल की है. 




क्या है पूरा मामला 

लॉकडाउन के चलते बच्चों का पिता पुलिस थाने से पास लेकर झारखंड अपने किसी रिश्तेदार को घर छोड़ने गया था जिसके बाद पति-पत्नी की घर के खर्च और राशन को लेकर आपस में कुछ तकरार हो गई जिसके बाद गुस्से में आई औरत ने पांच बच्चों समेत खुद भी गंगा नदी में छलांग लगा दी. जब बच्चे डूबने लगे तो वो तैरकर बाहर आ गई लेकिन बच्चे गंगा नदी में बह गए. 

इस घटना का पता चलते ही स्थाननीय अधिकारीयों के एलावा उच्च अधिकारी भी वारदात वाली जगह पर पहुँचे लेकिन पुलिस अभी तक बच्चों की लाशें नहीं ढूंढ पाई है. वहीं गोताखोर बच्चों की लाशें ढूंढ़ने में दिन रात लगे हुए है लेकिन अभी तक एक भी बच्चे की लाश मिलने में सफलता नहीं मिली है. 


पुलिस का क्या कहना है 

पुलिस का कहना है कि गाँव वालों द्वारा उन्हें इतलाह मिली कि एक और अपने बच्चों समेत गंगा नदी में कूद गई है लेकिन घटनास्थल पर पहुंचकर उन्होंने औरत को जिन्दा पाया लेकिन बच्चे नदी में डूब चुके थे. 

पुलिस ने कहा कि नदी के पानी का बहाव तेज होने के कारण बच्चों की लाशें काफी आगे चली गई होंगी इसलिए लाशें ढूंढ़ने में अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है लेकिन पानी में डूबने के 18 से 20 घंटे के बाद लाश पानी पर तैरने लगती है इस तरीके से जल्द ही बच्चों के शव बरामद कर लिए जाएंगे. 


पति का बयान 

जब पुलिस और मिडिया ने औरत के पति मुन्ना से पूछा कि क्या उसकी पत्नी किसी मानसिक रोग का शिकार थी तो उसके पति ने बताया कि उसकी पत्नी को किसी किस्म की कोई मानसिक बीमारी नहीं थी उसे नहीं समझ में नहीं आ रहा कि उसने यह कदम कैसे उठा लिया. फिलहाल पुलिस बच्चों के शव ढूंढ़ने में लगी है. 

Post a Comment

0 Comments